निकरे खे तरसे

18-7-13 Mahoba Tazaजिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव अस्थौन ओर रिवई। ई  दोनऊ गांवन में गांव के भीतर पक्का रास्ता न होए के कारन आदमियन को बाहर निकरे के लाने बोहतई परेशानी आउत हे। गांव के आदमियन ने प्रधान से लेके बी.डी.ओ. तक को दरखास दई हे, पे समस्या जेसी के तेसी हे। अस्थौन की रामरती, शुरेश ओर रानी बेगम ने बताओ कि वार्ड नम्बर दो में लगभग एक किलो मीटर रास्ता नई बनी हे। जा गांव के भीतर जाए खा मेंन गली आय। हमाये मुहल्ला के बीस घर हें,जिते बरसात में पूरे रास्ता में पानी भर जात हे। ऊ समय हम अपने घरन में कैदी के जेसे रहत हे। बच्चन खा स्कूल जाए में गिरे को डर बनो रहत हे। ई रास्ता से हजारन आदमी निकरत हें। बरसात में रास्ता में एक फुट गहरे गड्ढा हो जात हें। जीसेे जानवर भी दलदल में फंस जात हें।

प्रधान छोटेलाल से ई मामले में बात करंे खा केऊ दइयां गए हें, पे ऊ नई मिल पाये हें।

रिवई गांव के नीतेद्र ओर केशन कछू एसो बताउत हें। हमाये गांव के मलखान गली में रास्ता न होय के कारन निकरे में परेशानी आउत हे। हमाओ गांव पिछले पंचवर्षीय में अम्बेडकर गांव हो चुको हे। पे जा रास्ता नई बनवाई हे। प्रधान भजनलाल से ईखे बारे में बात करे की कोशिश करी पे ऊने कोनऊ जवाब नई द ओ हे। बी.डी.ओ. प्रदीप कुमार पाण्डेय ने कहो कि में एते अभे आओ हों। अब पता चलो हे तो ऊं गांवन की जांच करी जेहे। अगर गड़बड़ी मिलहे तो आगे कारवाही करी जेहे।