ना बिहार में ना सूरत में, बाटी चोखा अब बांदा में

जिला बांदा। सूरत के बाटी चोखा अब कचहरी तहसील के लगे ओवरब्रिज के नीचे मिलत है। पिछले पन्द्रह साल से रामप्रकाश सूरत मा बाटी चोखा बनावत रहै, अब तीन साल से बांदा  मा बाटी चोखा बनावत है वहिके दुकान बाटी चोखा भण्डार के नाम से  मशहूर है अउर आपन स्वाद का जादू सगले फइलावत है।
दुकानदार रामप्रकाश का कहना है कि हम सुबेरे सात बजे दुकान मा जइत है।आलू उबाल के  बैंगन भूजित हन,फेर अदरख लहसुन अउर सरसों का तेल डाल के चोखा बनाइत हन। चोखा बनावै मा तीन चार घंटा का समय लागत है।बाटी चोखा बीस रुपिया का मिलत है। मड़ई खात कम है अउर पैक ज्यादा करावत हैं। गरीब  से लइके अमीर सब का हमार बाटी चोखा पसंद हैं। जबै मुख्यमंत्री योगी जी आये रहै तौ उंई भी हमार बाटी चोखा का खाइन है अउर पसंद करिन है।
करीगर कस्तूरी का कहब है कि आटा मा नमक, कलौंजी, सौंफ अउर अजवाइन डाल के गाढ़ा गाढ़ा आटा सान लेइत है फेर वहिके बाटी बनाई जात है।
ग्राहक अयोध्या का कहब है कि मैं हफ्ता मा एक दुइ दरकी बाटी चोखा खायें जरुर आवत हौं काहे से यहिका खाये से पेट सही  रहत है। तरुण बताइस कि बाटी चोखा साफ़ शुद्ध रहत है अउर हमें बहुतै पसंद है। जबै घर से जल्दी निकलित है तौ हेंया बाटी चोखा खाये जरुर अइत है।

बाईलाइन-नाजनी रिजवी

03/10/2017 को प्रकाशित