नाय मिलत बाय दोपहर कै भोजन

f sampadkiyeफैजाबाद , अउर अम्बेडकरनगर के कइयौ स्कूल मा महीनन से खाना नाय बनत बाय जेसे सरकार के मिड्डे मील योजना कै धज्जी उड़त बाय। गेदहरै भूखे पेट पढ़ाई करत अहं।
कक्षा एक से आठ तक के गेदहरन का दोपहर कै भोजन दियै कै सरकार नियम लगाये बाय। सरकार कै नियम बाय कि हर दिन बदल बदल के खाना दिया जाए। ई योजना सार्थक भै हर स्कूल मा गेदहरन का दोपहर कै भेाजन दिया जात बाय। लकिन अम्बेडकरनगर कटेहरी ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय सबना तिवारी पुर भगवापट्टी, प्रतापपुर चमुर्खा अउर फैजाबाद के टंडौली प्राथमिक विद्यालय मा महीना से ज्यादा होइगा खाना नाय बनत बाय। जेसे गेदहरै भूखे पेट पढ़ाई करत अहं। स्कूलन के अध्यापकन कै कहब बाय कि ऐसन मा गेदहरन कै संख्या भी कम होय जाथै। अउर जब शासन प्रशासन बजट ही नाय भेजत बाय तौ कहां से खाना बनुवावै। चार पांच महीना अपने पास से खिलाय गै बाय।
अब शासन प्रशासन बजट भेजै तौ खाना बनवाय जाए।
हर दिन खाना मिलै के भांति गेदहरै टकटकी लगाये रहाथे कि दुपहरे खाना मिले। अउर तौ अउर गेदहरन कै संख्या भी कम होय जाथै। फिलहाल जब तक शासन प्रशासन से बजट न आये खाना बनब बंद रहे। शाशन प्रशासन कै कहब बाय कि जब नये प्रधान शपथ लै लेइहै तब जिला से खाता मा बजट आये। अबहीं अजट नाय आय बाय। बजट आवै के बादै खाना बनुवाय जाये।