नाय पता चला घटना कै कारण

gaow2 finalजिला फैजाबाद, ब्लाक मसौधा, गंाव महावां, श्रीकृष्ण का पुरवा। 25 नवम्बर 2014 का रात तीन बजे रोगंटा खड़ा कै दियै वाली घटना भै। सब षंका करत हइन कि प्रहलाद अपने पत्नी का गड़ासा से काटके खुद फांसी लगाय लिहिन। चार मासूम का महतारी बाप कै छाया नसीब नाय भै।
मृतक प्रहलाद कै महतारी श्रीमती षान्ती देवी बताइन कि हमरे दुई बेटवा प्रहलाद अउर अनन्तराम रहे। प्रहलाद छोट बेटवा रहिन। जवन आज रात लगभग तीन बजे अपने मेहरारू आषा कै गटई गड़ासा से काट के अपना फांसी लगाय लिहिन। अउर घटना के पहिले गेदहरन का रजाई मा लपेट के बाहर सुलाय दिहिन। रोवै कै आवाज सुनिके जब जायके देखागै तौ  गेदहरै बाहर तख्ता पै रोवत रहिन। अन्दर से दरवाजा बन्द रहा। खिड़की से देखागै तौ आषा कै खूनी लाष बिस्तर पै अउर प्रहलाद कै छत से लटकी रही।
रात मा पुलिस का सूचना दीन गै तौ सबेरे पुलिस आइन। दीवाल तूरके अन्दर जाए के दरवाजा खोलिन। दुई दरवाजा के अन्दर यतनी बड़ी घटना करे रहिन। जब देखा गै तौ आषा के गटई पै कइयौ बार गड़ासा से मारागै रहा। घटना मा इस्तेमाल कइगै गड़ासा जमीन मा पड़ा रहा। अउर वही छत से हमरे बेटवा कै लाष लटकी रही।
गंाव वाले बताइन कि प्रहलाद बहुत षराब पियत रहिन। दुईनौ जने मा हमेषा झगरा लड़ाई हुवत रही। लकिन वहि दिन दुइनौ जने खेत मा साथे काम रित रहिन। कउनौ कमाई कै जरिया नाय रहा लकिन षराब रोज पियत रहिन।
पूराकलंदर थाना कै दीवान मुषीद खान बताइन कि प्रहलाद के पिता जगदम्बा से तहरीर मिली बाय। 302 (हत्या )कै धारा लाग बाय। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलै के बाद पता चले कि घटना कैसे भै रही।