नाम खां मीड्डे मील योजना

4school

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव सलारपुरा ओर सिजरिया। सलारपुरा गांव के जूनियर स्कूल में चार महीना से मिड डे मील खां नामो निशान नइयां। एई ब्लाक को दूसरो सिजरिया गांव के प्राथमिक स्कूल में बिना मीनू के मिडडे मील खाना बनाओ जात हे।
सलारपुरा गांव के जूनियर स्कूल के बच्चे गोकुल, देवीदीन, सुरेश, शिवम, मोहनी, रोशनी ओर प्रभा ने बताओ कि हमाए स्कूल में चार महीना से मिड्डे मील खाए खें नई मिलत आएं। दोपहर में हम अपने घरन में खाना खाए जात हें तो देर से आंए में डांट परत हे ओर मास्टर मारत भी हें।
जूनियर स्कूल की हेडमास्टर सरोज यादव ने बताओ-“ मोए स्कूल में 1 नवम्बर से मिड्डे मील नई बनो आय। ईखें लाने मेने केऊ दइयां बी.आर.सी. में दरखास दई हे, पे कोनऊ सुनवाई नई भई आय।
एसई कबरई ब्लाक के दूसर गांव सिजरिया के प्राथमिक स्कूल में खाना बिना स्वाद ओर मीनू के बनत हे।
गांव के मोहम्मद, शान्ती ओर अमित ने बताओ कि स्कूल में एसो खाना बनाओ जात हे, कि बच्चा एकऊ दिन स्कूल में खाना र्नइं खात पूरो खाना जानवरन खां डार दओ जात  हें। तहरी में चावल हल्दी ओर खीर में थोई से दूध ओर शक्कर डार के बनाउत हें ।
प्राथमिक स्कूल के शिक्षा मित्र अरूण कुमार ने कहो कि स्कूल में दो सौ पच्चीस बच्चा हें। मीनू के हिसाब से खाना दओ जात हे।
महोबा बेसिक शिक्षा अधिकारी मुसीहुज्जुमां सिद्दीकी ने बताओ कि सलारपुरा गांव में प्रधान खां नोटिस देके कारवाही करी जे हें। जोन स्कूल में मिडडे मील की गुणवत्ता में कमी हे ऊखी जांच कराई जेहे।