नहीं होत खुली मीटिंग

gaon banda - khuli meetingजिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द, गांव अरबई। हेंया के मड़ई तीन साल से खुली मीटिंग न होय से परेशान हैं। कइयौ दरकी प्रधान चुन्नी से कहा गा है, पै वा नहीं सुनत आय।
लाली अउर चन्दा कहिन कि जबै से प्रधान भे तबै से एकौ दरकी खुली मीटिंग नहीं भे आय। मीटिंग न होय से हमका कउनौ तान के जानकारी नहीं होत। हमका कउनौ काम के बारे मा पता नहीं चलत आय।
राम किसुन का कहब है कि जबै प्रधान का वोट लें का रहा है तबै गांव आयी। तब से अबै तक हमार मोहल्ला नहीं आई आय। काहे से हमार पक्ष के मड़ई भी प्रधान पद खातिर चुनाव मा ठाड़ रहैं। यहै से वा हमका काम नहीं देत आय अउर न खुली मीटिंग करत आय।
प्रधान चुन्नी का कहब है कि चार महीना से मीटिंग नहीं भे आय। यहिके पहिले खुली मीटिंग करैं खातिर मुनादी कराई जात रहै, तौ कउनौ नहीं आवत रहा आय। अब मड़ई कहत है कि खुली मीटिंग नहीं होत आय।