नहीं लिख गे रपट

गीता बतावत आपन बीती
गीता बतावत आपन बीती

जिला बांदा, ब्लाक तिंदवारी, गांव बिछवाही। हेंया के संतोष के मउत 12 अगस्त का होइगे। वहिके परिवार का आरोप है कि गांव का पप्पू सिंह जहर खिला के संतोष का मार डारिस है। 13 अगस्त 2014 का चिल्ला थाना मा दरखास दिहिन हंै, पै रपट नहीं लिखी गे आय।
संतोष के मेहरिया गीता बतावत है-“25 जुलाई 2014 के रात पप्पू सिंह मोरे मनसवा का ट्यूबवेल बनावैं के बहाने बुला लिहिस। पहिले दारू के साथै जहर पिला दिहिस फेर ट्यूबवेल के कुंआ के तरे पंखा बनावैं का उतार दिहिस। संतोष होंआ जा के बेहोश होइगा तबै पप्पू हमैं फोन करिस। हम संतोष का निकार के जिला अस्पताल लई गयेंव। जिला अस्पताल से कानपुर रिफर कई दिहिन। होंआ इलाज के दौरान ही 12 अगस्त का खतम होइगा। इलाज के समय मनसवा इं सब बातै यहिसे बताइस रहै।” चिल्ला थाना का दरोगा आर.बी. सिंह कहिस कि अबै पोस्र्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई। रिपोर्ट आवैं के बाद ही रपट लिखी जई।