नाबालिक बच्चों के साथ यौन हिंसा के मामलों पर नई सरकार ठोस कदम कब उठाएगी?

जिला बांदा, जिला महोबा उत्तर प्रदेश सरकार मेहरिया हिंसा रोके खातिर एंटी रोमियो दल बनाइन है। पै बलात्कार अउर यौन हिंया के मामला अबै भी रुके का नाम नहीं लेत आय। चुनाव के पहिले अउर बाद मा इनतान घटना लगातार होत है।
यहिसे आरोपिन के हौसला अउर बढ़त है पीड़ित मड़ई नियाव खातिर गुहार लगावत रहत है।डेढ़ महीना मा तीन बलात्कार के मामला सउहें आय हैं।
महोबा के कुलपहाड़ मा 10 साल के लड़की के साथ 20 साल का पुष्पेन्द्र बलात्कार करिस रहै जेहिकर 10 अप्रैल का केस दर्ज भा है। लड़की के महतारी अउर बाप कहत है कि पुष्पेन्द्र हमार लड़की के साथे गलत काम करिस रहै जान से मारे के धमकी भी देत रहै।
कुलपहाड़ के सी. ओ. विनोद सिंह का कहब है कि दरखास के आधार मा मुकदमा लिख लीन गा है अपराधी का पकड़ लीन गा है लड़की के मेडिकल जांच कराई गे है।बांदा के तिन्दवारी क्षेत्र मा 6 अप्रैल का 7 साल के बिटिया साथे बलात्कार भा है।
वहिकर महतारी बताइस कि सेंट बेचें वाला आवा रहै घर मा लड़की का अकेले पा के छेड़खानी करिस है तबै हम 100 नं.पुलिस का फोन करे हन। यहिनतान चिल्ला गांव मा 16 अप्रैल का 10 साल के लड़की साथे 22 साल का धीरू बलात्कार करिस है
लड़की बताइस कि धीरू श्री लावे के बहाना मोहिका बोला लिहिस है। फेर मोरे मुंह मा कपड़ा भर के मोरे साथे उल्टा सीधा काम करिस है।
लड़की के दादी बताइस कि लड़की कहत रहै बइठे मा बहुत पिरात है अउर खून भी निकरत है तबै हमें पता चला कि वहिके साथे बलात्कार भा है तबै हम पुलिस का फोन करे हन।
तीनो मामला मा नबालिक बिटिया साथे बलात्कार भा है उत्तर प्रदेश के सरकार का मड़ई चुना है तौ का सरकार इं मड़इन के उम्मीदन मा खरी उतरी का इनका नियाव देवा पई। या मड़ई यहिनतान भटकिहैं।

रिपोर्ट- खबर लहरिया ब्यूरो

25/04/2017 को प्रकाशित