नहीं कराई जात चरही के मरम्मत

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव बडैछा। नहरी कस्बा से लगभग 5 किलो मीटर दूर पहाड के निचे से जाय वाली पैदल रास्ता का गांव बडैछा जउन परसिमर के तहत या साल गांम पंचायत बन गा है। या गांव मा 2010 बसपा के समय जानवरन के पानी पियै खातिर चरही बनी है, पैवहिके मरम्त न होय से या साल जानवरन के पानी पियैं का परेषानी है।
गांव के बद्री प्रसाद का कहब है कि हमरे गांव मा बद्री प्रसाद उपध्यया के खलिहान मा चरही बनवाई गे रहै। जेहिसे कि जानवर पानी पी सकैं। व चरही के मरम्त के जिम्मेदारी ग्राम पंचायत का दीन गे रहै। अब या साल प्रधान वा चरही के मरम्त नहीं कराइस आय। यहिसे वा चरही चुवत है अउर पूरा चरही का पानी कुआं मा जात है। जेहिसे कुंआ का पानी प्रदुषित होय का डेर है। यहिसे हम सोचत हन कि चरही के मरम्त जल्दी ही करवा दीन जाय अउा जानवरन का पानी मिल सकै।
प्रधान कृष्ण कुमार का कहब है कि अबै मोरे पास चरही मरम्त के कउनौ बात नहीं आई। अब जानकारी मिली है, तौ मरम्त कराई जई।