नवाज की पार्टी के 17,000 सदस्यों पर आपराधिक मामले

पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव से पहले पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी के करीब 17,000 सदस्यों पर चुनावी नियमों के उल्लंघन के आरोप को लेकर पुलिस ने उन पर पहले से दर्ज आपराधिक मामलों की जांच दोबारा शुरू की है। पुलिस ने बातचीत में इस बात की जानकारी दी। पुलिस के अनुसार, पंजाब के पूर्वी प्रांत में गत चार दिनों के दौरान 16,868 मामले दर्ज किए गए।

पुलिस ने शरीफ के नेतृत्व वाली पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के सैकड़ों सदस्यों को लाहौर में गिरफ्तार भी किया है। ये सभी मामले 13 जुलाई के हैं। इसी दिन शरीफ अपनी बेटी मरियम नवाज के साथ स्वदेश लौटे थे। उस दिन किसी प्रकार की सार्वजनिक रैली आयोजित करने पर प्रतिबंध लागू था। इससे पूर्व इसी पार्टी के नेताओं के विरुद्ध आतंकवाद विरोधी कानून के तहत रविवार को आपराधिक मामले भी शुरू किए गए हैं। हालांकि वक्तव्य में इस बात का कोई जिक्र नहीं किया गया है कि किन चुनाव नियमों को तोड़ा गया।

शरीफ और उनकी बेटी मरियम को भ्रष्टाचार मामले में दोषी ठहराए जाने के कारण  लंदन से पाकिस्तान में हवाईअड्डे पर उतरने के बाद ही गिरफ्तार कर लिया गया था और अदियाला जेल भेजा गया है।

बता दें, शरीफ 25 जुलाई को होने वाले चुनाव में अपनी पार्टी को फिर से सत्ता पर काबिज करने के प्रयास में हैं। चुनाव अभियान के दौरान आरोप लगाया गया है कि पाकिस्तान की शक्तिशाली सेना पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी से राजनेता बने इमरान खान के पक्ष में पर्दे के पीछे से काम कर रही है।