नयी सरकार से मनरेगा मजदूरों की पुकार, गूँज रही बाँदा जिला के मवई गाँव में

जिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द, मवई गांव हेंया एक साल पहिले मनरेगा के तहत गांव में मड़ई काम करिन रहै। पै अबै तक इं मड़इन के मजूरी नहीं मिली आय। शासन प्रशासन मा कइयौ दरकी दरखास दे के बादौ काम के मजूरी नहीं मिली आय।
शिवपूजन,घसिटवा अउर चुनवाद का कहब है कि हम खंती का काम करे हन पै हमें अबै तक मजूरी नहीं मिली आय हमार पूर मजूरी का रुपिया पड़ा है।
सिध्दगोपाल बताइस कि मोर 21 खुदाई खंती का रुपिया पड़ा है। हमार काम दूसरेन के खाता मा चढ़ा के दुसरेन का मजूरी देत है। प्रधान कहत है कि एक महीना मा मजूरी मिल जई।
रामसंजीवन अउर सुदामा बताइस कि हम मजूरी के रुपिया खातिर लखनऊ तक गये हन,तबै 82 दिन के मजूरी मा 36 दिन के मजूरी दीन गे हैं
पंचायत मित्र संतराम बताइस कि मनरेगा का रुपिया तुरंतै आ जावा चाही।
प्रधान पति रामकिशोर बताइस कि मनरेगा के मजूरी के या दरकी नहीं आई आय
सी,डी .ओ रामकुमार सिंह का कहब है कि कउन गांव का केत्ती मजूरी रुकी पड़ी है या जांच कइके बतावा जई।

रिपोर्टर- मीरा देवी और शिवदेवी

31/03/2017 को प्रकाशित