नई मिले लोहिया आवास

रिवई गांव के आदमी
रिवई गांव के आदमी

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव रिवई। ई गांव 2012-13 में लोहिया समग्र ग्राम भओ हतो। जीमें गरीब आदमियन खा कालोनी ओर शौचालय की व्यवस्था कराये खा नियम हतो, पे प्रधान की मनमानी के चलते आज भी दसन पात्र आदमी आवास खा भटकत हें।
राजेन्द्र कुमारी ओर केशकली ने बताओ कि हमाये एक-एक कमरा बने हें। ऊ भी कच्चे होय के कारन तनक सो पानी बरसे में टप-टप चुअत हंे। जीखे कारन घर में धरो हजार रुपइया को सामान के साथे साल भर खाये वालो अनाज भीग जात हे। अर्चना बताउत हे कि मोओ आदमी चार साल से बीमार हे। मोये एकऊ जमीन नइयां। एक घर बनो हतो, जोन पिछले साल की बरसात में गिर गओ हे। अब में आपन बीमार आदमी लेके रहे के लाने एते ओते भटकत हों।
प्रधान भजन लाल ने बताओ कि मोये गांव में 128 लोहिया आवास आये हते। जोन बन के तैयार हो गयेे हें। राजेन्द्र कुमारी खा पक्का एक कमरा होय के कारन कालोनी नई मिली आय। एसई जांच में सब अपात्र पाये गये हें। काय से जांच करें बी.डी.ओ. आये हते।
एसई जैतपुर ब्लाक के गांव सुगिरा के जगतराज ओर हलकुट्टी ने बताओ कि हमाओ गावं भी लोहिया समग्र ग्राम भओ हतो, पे हम लोगन खा न तो शौचालय मिले हें न आवास। शौचालय बनवाये खे लाने प्रधान नौ-नौ सौ रूपइया जमा कराउत हे। एसी महंगाई में खाये खे लाने तो मुश्किल परत हे। नौ-नौ सौ रुपइया केसे जमा कर पेबी।
सचिव कमलेश अनुरागी ने बताओ कि 753 शौचालय आये हते। जोन बन गये हें। 300 लोहिया आवासन की मांग करी हती। जीमें 64 आवास पास भये हते। हमाये एते जित्तो बजट आओ हे ओई हिसाब से गांव को विकास करा दओ हे।