नई मिलत हिस्सा

सुनीता
सुनीता

महोबा शहर, सत्तीपुरा मोहल्ला। एते की 35 साल की सुनीता आपन आप-बीती कछू एसो बताउत हे।
सुनीता ने बताओ कि मोई शादी खा लगभग बीस साल हो गये हें। मोये आदमी हरिश्चन्द्र ने मोये कभऊं नींक से नई राखो हे। कछू न कछू बहाना करके मारपीट करत हतो। अभे पांच साल पेहले ऊने दूसर लड़की से शादी कर लई हे। जभे कि मोये पन्द्रह साल को एक लड़का हे। में अपने मायके कबरई में रेह के खाना खर्चा को मुकदमा लड़न हती। जीते खे बाद मोये ससुर जमुना कुशवाहा ने सात बीघा जमीन मोये नाम करा दई हती। अब मोओ जेठ लखन ऊ जमीन में कब्जा करे हे। अगर में ओते रहें चाहत हों तो ऊ गाली-गलौज करत हे। ईखे लाने केऊ दइयां महोबा कोतवाली में रिपोर्ट लिखाई हे, पे ओते रिपोर्ट नई लिखी हे।
लखन की मताई ने बताओ कि सुनीता एते नई आउत आय, ऊ जमीन खा बेंचे चाहत हे। ऊने धोखे से सात बीघा जमीन में जा लिखा लओ हे कि जा जमीन मेंने खरीदी हे। एई से लखन जमीन में कब्जा नई करे देत हे।
महोबा कोतवाली प्रभारी एम.पी. वर्मा ने बताओ कि दरखास मिली हे। हम तहसीलदार या एस.डी.एम. खा लिवा के ओते जेबी, ओर जांच कराके सुनीता खा ऊखो कब्जा दिबाये की कोशिश करबी।