नई मिलत मजदूरी को रूपइया

National_Rural_Employment_Guarantee_Act_NREGA_logoजिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव (रिवई) सुनैचा। ई गांव में मनरेगा के तहत 2014 में सुनैचा से न्यूरिया गांव तक सम्पर्क मार्ग बनो हतो। जीमें लगभग दस आदमियन ने काम करो हतो। जीखी मजदूरी आज तक नई मिली हे। मजदूर भुखमरी के कगार में आ गये हे। 2 जून खा बृजरानी ने महोबा तहसील दिवस में दरखास दई हे।

बृजरानी ने बताओ कि गांव के ब्रन्दावन पुत्र गिद्धा ऊखी ओरत राजकुमारी ओर सुरजा पत्नि रजवा ने काम करो हतो। ऊखे भी रूपइया नई मिलो हे। ब्रन्दावन राजकुमरी की 18 खन्ती हेे, ओर सुरजा की तीस खन्ती हे। हमने परिवार सहित सम्पर्क मार्ग में पांच महिना काम करो हतो। हमाई पचास खन्ती डारी हती। एक साल हो गये पे रूपइया आज तक नई मिलो हे। में हर तहसील दिवस मे दरखास देन आउत हों। सचिव कहत हे कि तोओ रूपइया न मिलहे। एई से मेने 2 जून खा दरखास दई हे ओर मजदूरी को रूपइया दिबायें की मांग करी हे। सचिव सुर्दशन ने बताओ कि ने गांव के ही प्राइवेट मेठ भुजवल ने दूसरे के जाॅबकार्ड के ऊसे रूपइया चढ़वा के ले लओ हे। जभे की भुजवल सचिव ओर जे.ई. के ऊपर रूपइया निकारे को आरोप लगाउत हे। कबरई बी.डी.ओ. ओर महोबा सी.डी.ओ. से ई मामला में फोन से बात करें की कोशिश करी। मीटिंग होंय के कारन बात नई हो पाई हे।