नई मिलत खाद, बोये खा परी खेती

लखनलाल
लखनलाल

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव बिलबई। एते के तमाम आदमियन खा आरोप हे कि पचपहरा सहकारी समिति के कर्मचारी खाद नई देत आय। जीखे कारन खेती बोये खा परी हे। हरी किशन ओर रामपाल ने बताओ कि एक तो पिछले साल से किसान के ऊपर ऊसई समस्यन को पहाड़ टूटो हे। ऊपर से हमाये जोन दो-दो चार-चार एकड़ जमीन हे। ई साल ऊ भी बिना खाद बोये खा परी हे। जभे कि हमाओ सहकारी समिति में खाता भी हे।
लखनलाल पुत्र घनश्याम बताउत हे कि मोओ खेत आठ दिन से बोये खे लायक हे, पे बिना खाद के खर होन जात हे। ऊखो आरोप हे कि जोन आदमी बिना खाता के हें। ऊखे चार-चार बोरी खाद दे देत हें। ऊ आदमियन खे जेसे हमसे भी नगद रुपइया मांगत हें। जभे ओते हमखा नगद रुपइया देने हे तो खाद बाजार से न खरीद लेबी। काय खा एते परेशान  होएं आबी। हमखा समय से खाद मिल जाये ईखे लाने 2 दिसम्बर खा महोबा तहसील दिवस में एस.डी.एम. खा दरखास दई हे
पचपहरा सहकारी समिति के खाद विक्रेता रमेश चन्द्र ने बताओ कि जभे खाद खतम हो जात हे। तभे ऊ आदमी खाद लेय आउत हें। लखनलाल अपनी जमीन की खतौनी भी नई देत आय। एईसे ऊखे खाता में खाद नई दई जात हे।