नई देत घर को हिस्सा

17-06-15 Mahoba Nyayalay webजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव दिदवारा। एते के संगीता की शादी 7 साल पेहले बम्हौरी कुरमिल गांव के मनोज साथे भई हती। आरोप हे की ससुराल वाले पचास हजार रूपइया देहज में मगांउत हते। न देय पे घर में राखें से मना कर दओ। संगीता ने जून 2015 में खाना खर्चा को मुकदमा लगा दओ हे।

संगीता कहत हे कि मोये एक लड़का हे, ससुराल वाले पचास हजार रूपइया मांगत हते। देय से मना करो तो कहत हते कि हमाओ लड़का दे दे। हम तोय ने राखहें। में कहत हती माये अलग कर देओ ऊ नई माने ओर मरपीट करत हते। में तीन साल से मायके में रहत हती। 23 मई 2015 खा गांव में पंचायत लगी हती। ओते ससुराल वाले कहत हते कि हमें रूपइया नई लेने हे। मोये महोबकण्ठ को घर ओर पांच बीघा खेतवा देय खा कहत हते। 10 जून खा में जभे आपन खेत जोतवांये के लाने खेत गई तो ससुर ने खेतवा से टैªक्टर वापस लौटा दओ। ससुर कहत हतो कि मोओ घर खाली कर, तभई से में अपने मायके आई ओर महोबा कोर्ट में खाना खर्चा को मुकदमा लगा दओ। ससुर राजबहादुर बताउत हे संगीता खुद एते नई रहे चाहत हे। पूरी जमीन आपने मायके में भाई, मताई बाप खा देय चाहत हे।