नई आउत वृद्धा पेंशन, केसे चले खर्चा

बताउत समस्या
बताउत समस्या

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव रिछा। ई गांव के दसन आदमियन की वद्धा पेंशन फरवरी 2014 से नई आई हे। जीसे आदमी पेंशन के लाने बैंक के चक्कर लगाउत हे ओर खर्चा खा परेशान होत हे।
बेनीबाई ओर गिरजा रानी बताउत हे कि हमें चार साल से वृद्धा पेंशन मिलत हे। कभऊं हमाई पेंशन इत्ती लेट से नई आई हे। हम भूमहीन आदमी हे। हमाये बुढ़ापे को पेंशन ही एकई सहारा हतो, जोन ऊ भी ग्यारह महीना से नई आउत हे। प्यारीबाई ओर रम्बी ने बताओ कि में दलित जाति के ओरत हे। आपन पेंशन पाये खे लाने तहसील, ब्लाक ओर बैंक के चक्कर लगाउत हे। मछला रानी ओर अमनी कहत हे कि अगर बैंक जात हे तो ओते के कर्मचारी खिसिया के भगा देत हें। प्रधान से भी केऊ दइयां कहो हे। ऊ भी कछू नई सुनत हे।
प्रधान कुन्जा देवी के आदमी रामकिशोर ने बताओ कि मंेने केऊ दइयां समाज कल्याण विभाग में पता करो हे। ओते के कर्मचारी कहत हे कि शासन के एते से पेंशन नई आई हे।
समाज कल्याण विभाग के अधिक्षक धीरज सिंह ने बताओ कि आदमियन के खाता संख्या कार्य प्रणाली के तहत आॅनलाइन फीड करे जात हे। जीसे आदमियन की पेंशन सीधे लखनऊ से पात्र आदमी के खाता में भेजी जेहे। पूरे जिले में चैबिस हजार एक सौ तेतिस आदमियन खा पेंशन मिलत हे जीमें से 16 हजार आदमियन की पेंशन खाता में भेज दई हे। बाकी में अभे काम चालू हे। जल्दी ही सबके खाता मे पेंशन आ जेह।