नईं होत सफाई, गन्दगी की भरमार

belatal kasbaजिला महोबा, ब्लाक जैतपुर ओर चरखारी। ई कस्बन में नाला ओर नालियन की सफाई नईं होत हे। जीसे आदमी मलेरिया जेसे बिमारी के शिकार हो जात हे।
कस्बा बेलातल के रफीक, साफिया गुलशान ओर राविया कहत हे की हमाये एते कभऊं सफाई नई होत हे, ओर न हम सफाई कर्मी खा जानत हें। दो दिन सफाई न करन तो गन्दगी को अम्बार लग लग जात हे, नाली कूड़ा ओर गन्दगी से बजबजान लगत हे। जीसे द्वारे में बेठब मुश्किल हो जात हे। हमने केऊ दइयां प्रधान से कहो हे की सफाई करा देय तो ऊ हओ-हओ कहके गोलमाल कर जात हे।
प्रधान हरिमोहन कहत हे की पचीस हजार की आबादी वाले कस्बा में एक सफाई कर्मी हे। जीसे स्कूलन बस में सफाई कर पाउत हे। में अतीन साल से सफाई्र कर्मी की मांग करत हों।
एसई कस्बा चरखारी, मोहल्ला चिन्तेपुरा। एते की पे्रम, पाना देवी ओर इन्द्ररानी कहत हे की हमाये द्वारे को नाला खुलो परो, जीसे गन्दगी के कारन पानी नई निकर पाउत हे। गन्दगी के कारन मच्छर लगत हें ओर बदबू बोहतई आउत हे। घर नाला से खाली हें। जीसे नाला को पानी हमाये घरन मेें भर जात हे। हम लोग रात बिरात निकरें में डिरात हे। काय से केऊ दइयां नाला में गिर चुके हे। अगर नाला के ऊपर चीरा घर जेंहे तो गन्दगी से छुटकारा मिल जेहे ओर निकरें मे आसानी होहे।
चेयरमैन रूक्साना खातून कहत हे की जभे ओते की सड़क बनहें तो चीरा नाला में ढका दओ जेहे।