धारा 377 के फैसले से ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर अफसर की बदली जिंदगी, जल्द करेंगी शादी

सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 का फैसला आने के बाद अब ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर सरकारी अफसर ऐश्वर्या रितुपर्णा प्रधान जल्द शादी करने जा रही हैं उनका कहना है कि इस फैसले के बाद वह आजाद महसूस कर रही हैं।

34 वर्षीय ऐश्वर्या ओडिशा फाइनेंस सर्विस में अधिकारी हैं। वह उस समय चर्चा में आई थीं, जब वह ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर अधिकारी बनीं थीं। 2014 में जब सुप्रीम कोर्ट ने थर्ड जेंडर को बाकायदा पहचान दी, तब उन्होंने अपने आपको पुरुष से थर्ड जेंडर के रूप में दिखाया। इसके बाद ओडिशा सरकार ने बाकायदा नोटिफिकेशन जारी कर उनकी पहचान को मान्यता दी।

ऐश्वर्या का कहना है कि मेरे जीवन में कुछ भी छिपा नहीं है। मैं अपने पार्टनर के साथ दो साल से लिव इन में रह रही हूं। अब हम जल्द शादी करने जा रहे हैं। उनका कहना है कि अगर कानून ने इजाजत दी तो वह एक बच्चा भी गोद लेना चाहेंगीं।

ऐश्वर्या ने ओडिशा के धेनकनाल से जर्नलिज्म की डिगी ली। लेकिन उन्होंने जर्नलिज्म को करियर के तौर पर नहीं लिया। 2010 में उन्होंने ओडिशा सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन पास कर लिया। 2016 से उनकी दोस्ती एक ऐसे शख्स से हुई, जो खुद का अपना बिजनेस करते हैं।

अब एश्वर्या का कहना है कि अब तक हमारा रिश्ता पर्दे के पीछे था। क्योंकि अब तक कानून के हिसाब से ये अपराध की श्रेणी में था। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने हमारे पक्ष में फैसला सुनाया है तो अब हमें आजादी मिल गई है। अब मैं गर्व से कह सकती हूं कि मैं अपना परिवार अगले साल से शुरू कर सकती हूं।