धर्मनगरी में गुंडागर्दी चित्रकूट में कथित बलात्कार और पत्रकार पर हमला

चित्रकूट धाम का धर्मनगरी कहा जात हवै।या धर्मनगरी मा बारो महीना मड़ई कामतानाथ के दर्शन करें आवत हवैं।मड़ई बाबन के ऊपर बहुतै विश्वास करत हवैं पै जबै  मड़इन के साथै बाबा विश्वास घात करत हवैं तौ मड़इन का विश्वास टूट जात हवै।
यहिनतान 8 दिसम्बर का एक मेहरिया के साथै भा हवै जबै तीन मड़ई वहिके साथै बलात्कार करिन हवैं।मेहरिया का कहब हवै कि मैं शौच खातिर गई रहिंव तौ एक बाबा समेत दुई मड़ई मोरे साथै बलात्कार करिन हवैं अउर फेर भाग गें हवैं।
मेहरिया का मनसवा बताइस कि मैं मन्दिर मा  बच्चन साथै बइठ रहें हौं तबै मोर मेहरिया शौच खातिर चली गे रहै तौ हुंवा तीन मड़ई वहिकर मुंह दबा के लइगें अउर बलात्कार करिन हवैं। कामतानाथ के मुख्य द्वार के संत मदनगोपाल दास का कहब हवै कि जउन मड़ई गलत काम करत हवैं तौ उनके खिलाफ कड़ी कारवाही अउर जांच होवा चाही। काहे से चित्रकूट मा अबै तक इनतान के घटना नहीं भे आय। इनतान  के घटना से जनता मा गलत संदेश जात हवै। सीओ विजेंद्र दिवेदी का कहब हवै कि या घटना का मुकदमा लिख लीन गा हवै अउर जांच चलत हवै।
यहै घटना के जानकारी खातिर पत्रकार अखिलेश कोतवाली गा रहै तौ वहिके साथै मारपीट कींन गे हवै। इं टी वी के पत्रकार अखिलेश सोनकर का कहब हवै जउन मेहरिया साथै घटना भे हवै। तौ बात करत रहेंव तबै पुलिस के गाड़ी हुंवा पहुंच गे तबै कोतवाल मोहिका बोला के मोर कैमरा छुड़ा लिहिस अउर मोहिका गाली भी दिहिन हवैं। डी एम शिवाकांत दिवेदी का कहब हवै कि घटना के जांच कीन जई वहिके बाद कारवाही कीन जई।
रिपोर्टर-नाजनी रिजवी