देश में इस साल अब तक 1,094 लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत

देश में इस साल अब तक 1,000 से अधिक लोग स्वाइन फ्लू से मारे गए हैं जो पिछले साल के आंकड़े से चार गुना ज्यादा है। साथ ही अब तक इस बीमारी के कुल 22,186 मामले सामने आए हैं।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में इस साल अब तक 1,000 से अधिक लोग स्वाइन फ्लू से मारे गए हैं जो पिछले साल के आंकड़े से चार गुना ज्यादा है साथ ही अब तक इस बीमारी के कुल 22,186 मामले सामने आए हैं
महाराष्ट्र में एच1एन1 इंफेक्शन से सबसे ज्यादा लोग मारे गए हैं यह संख्या 437 है इसके बाद गुजरात में सर्वाधिक 269, केरल में 73 और राजस्थान में 69 लोगों ने बीमारी के कारण दम तोड़ा है
आंकड़ों के अनुसार, भारत में 20 अगस्त तक बीमारी से कुल 1,094 मौतें हुई हैं और 22,186 मामले सामने आए हैं जबकि 2016 में यह संख्या क्रमश: 265 और 1,786 थी
महाराष्ट्र में 20 अगस्त तक एच1एन1 इंफेक्शन के सबसे ज्यादा 4,245 मामले सामने आए थे और इसके बाद क्रम में गुजरात (3,029), तमिलनाडु में (2,994) और कर्नाटक (2,956) आते हैं
राष्ट्रीय राजधानी में बीमारी के 1,719 मामले सामने आए हैं जबकि पांच लोग मारे गए हैं
आंकड़ों के अनुसार, केवल अगस्त महीने में 342 लोग मारे गए जबकि पिछले साल इसी अवधि में छह लोग मारे गए थे
देश में 2009-10 में एच1एन1 इंफ्लूएंजा का सबसे बुरा प्रकोप आया था जब बीमारी से 2,700 से ज्यादा लोग मारे गए थे और करीब 50,000 अन्य प्रभावित हुए थे
स्वाइन फ्लू के नाम से जाना जाने वाला एच1एन1 इंफ्लूएंजा एक बेहद संक्रामक रोग है और एक व्यक्ति से दूसरे में तेजी से फैलता है 2009 में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी घोषित किया था। फोटो और लेख साभार: इंडियास्पेंड