देश की पहली नेत्रहीन आईएएस महिला

साभार: येस वी कैन बनो जोफैन फेसबुक पेज

तमिलनाडु में 25 साल की एनएल बेनो जेफाइन देश की पहली ऐसी आईएफएस अफसर बनने जा रही हैं जो नेत्रहीन हैं। बेनो दिल्ली में विदेश मंत्रालय में अपना पदभार संभालेंगी, और उनकी इस कामयाबी के पीछे उनके माता-पिता का बहुत बड़ा योगदान है। बेनो के पिता ल्यूक एंथोनी चार्ल्स रेलवे में काम करते हैं, जबकि मां मैरी गृहिणी हैं।
बेनो जेफाइन 69 साल पुरानी भारतीय विदेश सेवा की परीक्षा पास करने वाली पहली शत प्रतिशत दृष्टिहीन छात्रा हैं। वर्ष 2014 में परीक्षा उत्तीर्ण करके एक साल इंतजार के बाद अब विदेश मंत्रालय ने उन्हें नियुक्ति आदेश भेजा है। जेफाइन को पिछले सप्ताह केंद्र सरकार से नियुक्ति आदेश मिल चुका है। उन्हें 60 दिन के भीतर कामकाज संभालना है।