दूसरा बच्चा पैदा कर पाएंगे चीन के कुछ परिवार

(फोटो साभार : डैनियल केस | विकिपीडिया)
(फोटो साभार : डैनियल केस | विकिपीडिया)

चीन। भारत जैसे देश में जहां बच्चा पैदा करना परिवार का व्यक्तिगत मामला समझा जाता है। यहां के लोगों को यह जानकर थोड़ा अजीब लग सकता है कि एक देश जैसा भी है जहां बच्चा पैदा करना और उसकी देख रेख पर नज़र रखना सरकार का मामला है।
दुनिया की सबसे ज़्यादा आबादी वाले चीन देश में बढ़ती जनसंख्या को रोकने के लिए कानूनी नियम है कि यहां परिवार केवल एक ही बच्चा पैदा कर सकते हैं। हाल ही में यहां की राजधानी बीजिंग से इक्कीस हज़ार दो सौ उन्चास परिवारों ने दूसरा बच्चा पैदा करने की अनुमति लिखकर सरकार से मांगी थी। इसमें से उन्नीस हज़ार, तीन सौ परिवारों को यह अनुमति दे दी गई है। इसका कारण बताया जा रहा है कि दसियों सालों से इस कड़े नियम का पालन करने के कारण आबादी के बढ़ने की दर में रोक लगी है। इस कारण से इन परिवारों को छूट दी गई है। दूसरी तरफ अगर आंकड़े देखें तो लोग एक बच्चा पैदा करने के चक्कर में लड़का ही पैदा करना चाहते हैं। जिस वजह से वहां गर्भपात के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। लड़कों और लड़कियों का अनुपात भी बढ़ता जा रहा है। 118 लड़कों के मुकाबले यहां 100 लड़कियां ही हैं।

चीन की आबादी करीब डेढ़ करोड़ है। 1979 में चीन में एक बच्चा। लागू की गई थी यह योजना। साल 2009 तक दौ सौ करोड़ बच्चों के जन्म पर लगाई जा सकी रोक।