दूनौं समस्या एकै जइसे

c-3

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव तेंदुवा माफी। हिंया के दलित बस्ती का हैण्डपम्प एक महीना से खराब हवै। यहै से मड़ई एक किलो मीटर दूरी से पानी लावत हवैं। या समस्या से आठ घर के मड़ई परेशान हवैं। हैण्डपम्प बनावै खातिर कइयौ दरकी प्रधान रामदिनेश से कहा गा,पै कउनौ सुनवाई नहीं भे आय।
या समस्या का लइके पधान रामदिनेश से खबर लहरिया पत्रकार बात करिन तौ उनकर कहब हवै कि अबै तक मोहिका पता नही रहै। अब पता होइगा हवै तौ बनवा देहूं। हिंया के राममनी, सुनीता अउर चन्द्र, किशोर समेत लगभग दस मड़इन का कहब हवै कि पानी पियै खातिर दूसर बस्ती जइत हन तै हंुवा लाइन लगावैं का परत हवै। या कारन घर का काम अउर मजूरी करै मा देर होइ जात हवै। दुइ- दुइ घंटा पानी का ताके बइठे का परत हवै। अगर बनी मजूरी न करबे तौ कसत खर्चा चली। इनतान के गर्मी मा हमार बच्चा बिना नहाये धोये स्कूल जात हवैं। यहिके खातिर प्रधान रामदिनेश से कहित हन कि हैण्डपम्प बनवा दे तौ येत्ती परेशानी न झेलै का परी।
यहिनतान पानी के दूसर खबर जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव बसिला के हवै। हिंया दलित बस्ती का हैण्डपम्प पन्द्रह दिन से खराब हवै। या कारन पानी खातिर सैकड़न मड़ई परेशान हवैं। हिंया के चुन्नी, रानी अउर सफीना का कहब हवै कि एक हैण्डपम्प हवै। वहौ पानी नहीं देत हवै। हैण्डपम्प बन जात तौ नींक होइ जात। पानी के दिक्कत खतम होइ जात। प्रधान चुन्नी लाल का कहब हवै कि जमीन का पानी कम होइगा हवै। या कारन पानी के समस्या तौ होइबे करी। अगर हैण्डपम्प बिगरा हवै तौ वहिका बनवा देहूं।