दुर्घटना का न्योतत खुले ट्रांस्फारमर

फ़ोटो0818जिला बांदा, ब्लाक कमासिन, कस्बा कमासिन। हेंया 250, 250 के.वी. के तीन टंªास्फारमर बेगैर जाल के दसन साल से धरे है। मड़इन अउर जानवरन का जान का खतरा बना है। यहिसे परेशान मड़ई बिजली पावर हाउस कमासिन अउर बांदा बिजली विभाग मा दरखास दिहिन हैं।
दादो चैराहा मा 250 के.वी. का टंªास्फारमर धर्मराज के दुवारे मा धरा है। धर्मराज बतावत है कि बारह साल पहिले या टंªास्फारमर धरा गा रहै। हम मना कीन तौ जेई कहत रहै कि तुम्हें सेंत मा बिजली मिली। आज तक बिजली मिलब तौ दूर हमार जान का खतरा बना है आय दिन तार टूटत है। एक साल पहिले मोटर साइकिल के ऊपर तार गिर गे तौ वा जल गे रहै। बरसात के समय हमेशा करेंट उतर आवत है। बांदा, कमासिन, राजापुर अउर दादो चार रोडन का चैराहा आय। सवारी भी आवत जात है। उनका भी बहुतै खतरा है।
जगतपाल, नत्थू, शिवकुमार, रावेन्द्र कुमार, राकेश कुमार, रमेश अउर उमेश बताइन कि उंई या टंªास्फारमर हटवावैं खातिर बिजली विभाग मा दरखास दिहिन है। थाना के लगे अउर सिंह द्वार के आगे भी 250 के.वी. का टंªास्फारमर खुले धरे है। सीधे हजार पावर के बिजली जुड़ी है। आजकल खुले मा जानवरन के रखवाली करैं का परत है।
बिजली पावर हाउस कमासिन का जेई मुकेश चैरसिया है। वहिके न मिलै मा आपरेटर फौजी राम मिलन कहत है कि खतरा तौ हर जघा है। टांªस्फारमर मा जाल बंधवावब शासन प्रशासन का काम आय। हम कुछ नहीं कई सकत आहिन।