दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत पर जीत

नई दिल्ली। भारत के राज्य आंध्र प्रदेश की रहने वाली मालवथ पूरणा ने दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत मांउट एवरेस्ट पर चढ़ने में सफलता हासिल की। यह जीत उन्हें 25 मई को मिली। इसके साथ ही एक 18 साल के लड़के आनंद कुमार ने भी इस चढ़ाई को पूरा किया। आनंद कुमार दलित समुदाय से हैं। इस सफलता के बाद भारत में आनंद केा पहले ऐसे दलित का दर्जा मिल गया है जिसने इस पर्वत पर चढ़ाई की है। आनंद कुमार खम्मन जिले के रहने वाले हैं। इनके पिता साइकिल सुधारने का काम करते हैं।
नेपाल स्थित एवरेस्ट पर सबसे पहले 29 मई 1953 को एडमंड हिलेरी और शेरपा तेनजिंग चढ़े थे। इस पर्वत की ऊंचाई आठ हज़ार आठ सौ अड़तालिस मीटर है।

malavath-poorna
निज़ामाबाद जिले की निवासी मालवथ पूरणा एक किसान परिवार से है।