दुई बच्चन साथै मइके, नहीं होत गुजर

mahila mudda bandaजिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव सिंधनकला। हेंया के रामबाई का आरोप है कि वहिके ससुराल वाले दूनौ बच्चन साथै दुई साल पहिले वहिका का घर से निकार दिहिन रहैं। तबै से वा मइके मा रहिके मेहनत मजदूरी करत है अउर मनसाव से खाना खर्चा लें खातिर एक साल से मुकदमा लडत है।
रामबाई बताइस कि मोर शादी दस साल पहिले तिन्दवारी ब्लाक के मुगूंस गांव मा अजय साथै भे रहै। शादी के बाद से मनसवा दहेज का लइके रोजै मारपीट करत रहै। बाप महतारी के गरीबी हालत ससुराल वालेन के मांग पूर न कइ पाइस अउर उंई मोहिका घर से बेदखल कइ दिहिन। अब मइके मा रही के बनी मजदूरी करत हौं। वहिसे बच्चन का खाब खर्च अउर पढ़ाई लिखाई नहीं पूज पावत आय। साथै मुकदमा मा भी रूपिया लागत है, पै अबै कउनौ फैसला नहीं भा आय। यहिसे बहुतै परेशान है।
मनसवा अजय का कहब है कि रामबाई अपने मन से मइके चली गे है घर से कउनौ नहीं निकरिस आय। मैं वहिका लेवावैं भी कइयौ दरकी गा हौं। अब एक साल से मुकदमा लगा दिहिस है। अदालत जउन फैसला करी वा होई। मै राखैं का तैयार हौं।