दिल्ली की वो डरावनी रात आज चित्रकूट और महोबा में

16 दिसम्बर की वो भयानक रात शायद ही कोई लड़की कभी भूल पायें। उस दिन दिल्ली में चलती बस में सामूहिक बलात्कार की घटना सामनें आयी है। आज पांच साल होने के बाद भी कोई सुधार नहीं आया हैं। लड़की, महिला, वृद्ध, बहु, बेटी कोई भी सुरक्षित नहीं हैं। ताजा मामले महोबा और चित्रकूट जिले के है। जहां दो अलग-अलग महिलाओं के साथ बलात्कार की घटना सामनें आयी है।
महोबा की पीड़ित महिला का कहना है कि मेरे साथ तीन लोगों ने बलात्कार किया हैं। महिला के पति का कहना है कि दबंग बड़े आदमी थे इस कारण रिपोर्ट करने के बड्स भी सुनवाई नहीं हुई है। इस घटना के बारें में एसपी एन कोलांची का कहना है कि पहले छेड़खानी फिर बीस दिन बाद बलात्कार की रिपोर्ट लिखाई है। सबूत के आधार पर कार्यवाही होगी।
दूसरी घटना चित्रकूट जिले की  मऊ ब्लाक की है वहां नाव खोजने गई महिला के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना सामने आई है। पीड़ित महिला का कहना है कि मुझे कमरे में बंद कर दिया था दिन भर बंद करने के बाद शाम को अंधेरे में पकड़ के ले गये थे। शौच के बहाने भाग आई हूं। साहब मुझे पागल कहते हैं महिला के पति का कहना है कि उसके साथ दो लोगों ने जबरजस्ती की है और थप्पड़ मारा है उसके सारे जेवर भी छीन लिया है। सी.ओ विनीत सिंह का कहना है कि जांच के बाद कार्यवाही होगी और दोषियों को छोड़ा नहीं जायेगा।
क्या दोषी पकड़े जायेगें? क्या उन्हें सजा मिलेगी? क्या कभी ऐसा होगा कि लड़कियां आजादी से जी सकें? आखिर कब वो सुबह होगी?
रिपोर्टर-सुनीता देवी और श्यामकली

Published on Dec 19, 2017