दिन है हमारा, और रात भी हमारी

02-01-15 Manoranjan Delhi - TBTN 2015 webनई दिल्ली। 31 दिसंबर 2014 की रात दिल्ली की सड़कों पर उतर आया एक छोटा सा समूह। गानों, नारों और एकता और समानता की उम्मीद करते हुए, राह चलते लोगों को साथ जोड़ते हुए, इस समूह ने 2015 का आगमन किया।