दहेज के लाने मार के निकारो

photoजिला महोबा, ब्लाकचरखारी, कस्बाचरखारी, मोहल्लाअमरगंज। एते की माहेनूर की शादी 27 अप्रैल 2013 खे बांदा जिला के गोयरा गांव में भई हती। जीखे 29 अप्रैल 2013 खें ससुराल वालो ने दहेज खां लेके मार के निकार दओ हे। ईखी रिपोर्ट मटौंध थाने में दई हे।
अमरगंज मोहल्ला के रहें वाले कमर हुसैन की बिटिया माहेनूर ने बताओ कि मोई शादी 27 अप्रैल 2013 खे बांदा जिला के गोयरा गांव में बबलू के साथे भई हती। जभे 28 अप्रैल खे बिदा होखे अपने ससुराल गोयरा पोंहची। तभई शाम खे मोई सास आमना ने मोये बुलाओ ओर कहन लगी कि तोये बाप ने हमाये साथे धोखा करो हे। हमखे दहेज नई दओ आय ओर गन्दी-गन्दी गाली देन लगी। मेनें मना करके कहो कि मोये बाप ने अपनी हैसियत से दहेज दे दओ हे। तो ऊ कहन लगी के दो लाख रूपइया ओर मोटर साइकिल अब बाद में दे दे। जभे मैंने कहो कि मोओ बाप गरीब हे अब ऊ ज्यादा दहेज न दे पेहे। तो मोई सास बाल पकर के मारन लगी। जभे मेने बचाये खे लाने अपने आदमी बबलू खे बुलाओ तो ऊ भी आ के मारन लगो। 29 अप्रैल 2013 खे सुबह महोबा वाली बस में बेठार दओ। में अकेले चरखारी आई। चरखारी कोतवाली रिपोर्ट लिखाउन गई तो ओते से जा कह दओ कि मटौंध थाने में रिपोर्ट लिखी जेहे, काये से जा केस ओई क्षेत्र को आय। पे मटौंध थाने से लेके एस.पी. तक खे दरखास दई हे, पे कछु नई भओ आय।
माहेनूर के आदमी बबलू ने बताओ कि 28 अप्रैल 2013 खें माहेनूर आई हती। 29 अप्रैल 2013 खे ऊखो जीजा (भइया जी) आओ ओर कहन लगो कि तोये बाप की तबियत बोहतई खराब हे ओर लिवा ले गओ। ईखे बाद में 27 मई 2013 खे लिबाउन गओ हतो, पे ऊखे बाप ने नई भेजो आय।
मटौंध थाने के सब इस्पेक्टर अब्दुल जब्बार ने बताओ कि एते ई नाम खे कोनऊ रिपोर्ट नई आई आय। अगर एते ऐसी कोनऊ जानकारी आउत तो कारवाही जरूर करी जात। बांदा एस. पी. उदयशंकर जायसवाल ने कहो कि ऊ दुबारा से आके दरखास दे तो कारवाही जरूर करी जेहे। काय से पेहली दरखास कभे आई हे ईखे बारे में मोए जानकारी नइयां।