दलित गर्भवती महिला की हत्या, कारण? ठाकुरों की बाल्टी छू दी

 

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में खेतलपुर भंसोली गांव में कूड़ा बीनने वाली महिला के पानी से भरी बाल्टी पर हाथ
लगाने से आहत ठाकुर परिवार ने उसकी पीट पीटकर जान ले ली।

फोटो साभार-यूट्यूब

मृतक सावित्री देवी के पति दिलीप कुमार का कहना है कि पिटाई के कारण सावित्री का तुरंत गर्भपात हो गया था। वो आठ महीने सेगर्भवती थीं। उन्हें गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया बाद में डॉक्टरों ने उन्हें घर वापस भेज दिया। शनिवार 21 अक्टूबर को जब सावित्री देवी की तबीयत दोबारा बिगड़ गयी तो उन्हें घरवाले उसे अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने सावित्री को मृत घोषित कर दिया।
सुमित्रा की नौ वर्षीय बेटी हमले के समय मौके पर मौजूद थी। कोतवाली देहात थाने के अधिकारी तेजेश्वर सिंह

का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, महिला की मौत सिर पर गंभीर चोट लगने के चलते हुई है।