दक्षिण अफ्रीका की धरती पर सीरिज जीत कर भारत ने रचा इतिहास

साभार: ट्विटर/बी सी सी आई

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पांचवें वनडे में 13 फरवरी को 73 रन से हराकर छह मैचों की सीरीज में 4-1 की अपराजेय बढ़त बनाने के साथ ही इतिहास रच दिया। 26 साल बाद दक्षिण अफ्रीका की धरती पर ही यह करिश्मा हुआ है।
भारत ने सात विकेट पर 274 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद दक्षिण अफ्रीका को 42.2 ओवर में 201 रन पर ढेर कर दिया।
चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 57 रन पर चार विकेट, पांड्या ने 30 रन पर दो विकेट और लेग स्पिन्नर युजवेंद्र चहल ने 43 रन पर दो विकेट लेकर विरोधी टीम को ढेर कर दिया।
भारत ने इस तरह पोर्ट एलिजाबेथ में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में पहली बार जीत भी हासिल की।
पांड्या ने जेपी डुमिनी और एबी डीविलियर्स को आउट करने के अलावा ओपनर हाशिम अमला को सीधे थ्रो से रन आउट किया। पांड्या ने अमला को रन आउट कर भारत की जीत का मार्ग प्रशस्त किया और तबरेज शम्सी का एक हाथ से कैच भी लपका।
अमला ने सर्वाधिक 71 रन बनाए लेकिन उनके आउट होने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने अपने आखिरी पांच विकेट 33 रन जोड़कर गंवा दिए।
रोहित ने इस दौरे में अपना पहला अर्धशतक ही नहीं, बल्कि पहला शतक बनाया। उन्होंने 126 गेंदों का सामना किया और इस शानदार पारी में 11 चौके और चार छक्के लगाए।
वहीं, दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों ने अंतिम 10 ओवरों में शानदार वापसी की और भारत को 300 के ऊपर जाने से रोक दिया। भारत ने अंतिम 10 ओवरों में मात्र 55 रन जोड़े और चार विकेट भी गंवाए।
तेज गेंदबाज लुंगीसानी एनगिदी ने इस दौरान भारत को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया और नौ ओवर में 51 रन देकर चार विकेट झटक लिए। एनगिदी ने रोहित, हार्दिक पांड्या, श्रेयस अय्यर और महेंद्र सिंह धोनी के विकेट निकाले।
शिखर ने 34, विराट ने 36, अय्यर ने 30, धोनी ने 13, भुवनेश्वर कुमार ने नाबाद 19 और रहाणे ने आठ रन बनाए।