त्यौहारन मा देखत बनी बाजार के सजावट, खरीदारी

downloadउत्तर प्रदेश मा दिवाली अउर धनतेरस का त्यौहार बहुतै धुमधाम से मनावा जात हैै। या त्यौहार मा लोग महीनन के आगे से घरन के साफ सफाई अउर धनतेरस के खरीदारी के योजना बनावैं लागत हैं।
बाजारन मा इलेक्ट्रानिक, ज्वैलरी अउर आटो मोबाइल जइसे कि दुकाने लोगन का खरीदारी करैं का आकर्षित करैं के पूर तैयारी से सजाई गई रहैं। जेहिका प्रचार प्रसार दुकानदार महीनन से करैं लागत हैं।
वइसे भी इं त्यौहार चर्तुमास खतम होय अउर नवरात्रि शुरू होतै ही शुभ अउर मांगलिक कार्य शुरू होत हैं,पै तमाम लोग साल भर धनतेरस का इंतजार करत हैं। काहे से लोगन का मानब है कि खरीदारी शुभ होय के साथ समान खरीदैं मा कम्पनियां अउर दुकानदार ग्राहकन का तमाम उपहार अउर आॅफर देत हैं। ठण्डी नवरात्र शुरू होतै बाजार मा चहल-पहल बढ़ैं लागत, पै जइसे दीपावली का त्यौहार जइसे नजदीक आवत है। वइसे-वइसे बाजार के रौनक दिनै दिन बढ जात हैं। खास कर धनतेरस पर खरीदारी करैं खातिर जउन लोग साल भर इंतजार करत हैं। उंई धनतेरस अउर दीपावली के या त्यौहार मा सुबेरे से बाजार करैं निकरत हैं। खुशी खुशी सामान के खरीदारी कइके आज के दिन का साल भर का इंतजार भी खतम कइ देत है। वइसे तौ या त्यौहार मा लोग सोना चांदी के सामान वा गणेश लक्ष्मी के स्क्किा खरीदत है, पै जेहिके पास दौलत निहाय। उंई त्यौहार के रसम पूर करैं का कुछ न कुछ सामान खरीदत हैं।