तैयार उपमंडी खुलवाने के लिए भी आवेदन

जिला चित्रकूट। किसान आसानी से गल्ला बेच सकें इसके लिए सरकार ने 2013 में चैदह उपमंडियों का निर्माण शुरू करवाया था। अब इन मंडियों को बने चार महीने हो गए हैं पर ये बंद पड़ी हैं और किसानों की समस्याएं बरकरार हैं।
ब्लाक कर्वी, गांव बगलई के निवासी रहस्य बिहारी ने कहा कि अभी भी उन्हें गल्ला बेचने लगभग पन्द्रह किलोमीटर दूर किराया लगाकर शिवरामपुर जाना पड़ता है।
ब्लाक मऊ, गांव विनोबा नगर के राजकुमार और सुधा ने बताया कि बरगढ़ कस्बा की उपमंडी के चालू होने का सारे किसान बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं।
ब्लाक रामनगर, गांव लोधौरा बरेठी के कल्लू का कहना है कि रामनगर में उपमंडी बन जाने के बावजूद अभी भी उन्हें गल्ला बेचने मऊ या कर्वी जाना पड़ता है।
इस समस्या के बारे में चित्रकूट ए.डी.एम. संतोष कुमार ने कहा कि उपमंडियों को चालू कराने के लिए सरकार को लिखित आवेदन भेजने की ज़रूरत है। इसके लिए किसान यदि जिले स्तर पर अनुरोध करें तो कोई कदम उठा सकते हैं।