ताजे ताजे चिप्स खाने हैं तो चलिए चित्रकूट जिले के राजकुमार के घर

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, कस्बा बरगढ़। चिप्स पुल्ला अउर कटोरी खाय मा केहिका मजा नहीं आवत आय। इं चीज गांवन मा साइकिल वाला भईया ताजा ताजा लइके आवें तौ वहिकर मजा अउर दुगना होइ जई। तौ आऔ जानित ह्वै यहिके बनावे के बारे मा। राजकुमार उर्फ़ पप्पू का कहब हवै कि मैं दुइ साल से कटोरी चिप्स बनावत हौं। इलाहाबाद से कच्चा माल लइत हवै फेर वहिका सुखा के तलित हवै। वहिके बाद वहिमा मसाला नमक, मिर्च, अउर टमाटर का सांस मिलाइत हवै। एक मड़ई से बनावें सीखे हौं। गाहुंर, मनका समेत कइयौ गांवन मा बेंचे जात हौं।
संगीता बताइस कि दुइ साल से कटोरी पैक करे का काम करत हौं। एक दिना मा जेत्ता तला जात हवै सब पैक कइ देत हौं।
गाहक संजय पांडे बताइस कि कटोरी का स्वाद बहुतै नींक लागत हवै यहै खातिर एक एक किलो खरीद के घर लइ जात हौं।

बाईलाइन-सुनीता देवी
Published on Nov 8, 2017