तसलीमा नसरीन

साभार: विकिपीडिया

खबर लहरिया की एक नयी श्रृंखला, जिसमें आप चर्चित हस्तियों के बारे में कुछ अनोखी बातें जानेंगे। पहल करतें हैं लेखिका तसलीमा नसरीन से।
1. तसलीमा नसरीन बंगाली महिला लेखिका हैं।
2. महिला आजादी, शोषण और अपने खुले विचारों के कारण विवाद में रहती हैं।
3. उनका जन्म 25 अगस्त 1962 को पूर्वी पाकिस्तान में हुआ था, जो आज बांग्लादेश का हिस्सा है।
4. विवादों के चलते उन्हें बांग्लादेश से 1994 में निर्वासित कर दिया गया।
5. उन्हें स्वीडन की नागरिकता मिली है और वे अब वहीं रहतीं हैं।
6. 54 वर्षीय तसलीमा पेशे से डॉक्टर हैं।
7. लेखन के शुरुआती दौर में उन्होंने बहुत सी कविताएं लिखी और उनका पांचवां उपन्यास लज्जा था। जिसके लिए ही उन्हें कटरपंथियों का विरोध झेलना पड़ा और उन्हें देश से निष्कासित कर दिया। यहाँ तक की उनके खिलाफ मौत का फतवा भी जारी हुआ था।
8. दस साल तक यूरोप और अमेरिका में रहने के बाद उन्होंने 2005 में पश्चिम बंगाल में अपना निवास किया पर वहां से भी विरोध के कारण 2008 को निर्वासित होना पड़ा।
9. तसलीमा अपने पुरुष मित्रों के कारण हमेशा आलोचना का केन्द्र रहती हैं।
10. वह उपन्यास, आत्मकथा, कविता और निबन्ध संग्रह जैसी विधिओं पर लिखती हैं।