तमिलनाडु में आया भयंकर तूफान, मौसम विभाग ने दी आने वाले दिनों मेंघोर संकट की चेतावनी

साभार: ट्विटर/एन डी एम् ए

बंगाल की खाड़ी से उठे एक साइक्लोन ओखी (भयानक तूफान) से तमिलनाडु में हालात गंभीर है। 30 नवंबर को तमिलनाडु, लक्षद्वीप और केरल के कई हिस्सों में जोरदार बारिश की आशंका जताई गई थी।
चेतावनी के बाद कन्याकुमारी में भारी बारिश और आंधी के चलते 4 लोगों की मौत हो गई। यहां 70-75 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में साउथ तमिलनाडु और केरल के कुछ जिलों में मूसलधार बारिश का अलर्ट जारी किया है।
हवाओं की रफ्तार भी 100 किलोमीटर हर घंटे तक पहुंच सकती है। तूफान के असर से तमिलनाडु के कोस्टल एरिया में भारी बारिश हो रही है। ‘ओखी’ धीरेधीरे लक्ष्यद्वीप की ओर बढ़ रहा है।
एक अंग्रेजी अख़बार के अनुसार,  साइक्लोन ‘ओखी’ से तमिलनाडु के दक्षिणी जिलों में ज्यादा नुकसान हुआ है। मौसम विभाग ने कहा है कि 30 नवम्बर को 65 से 75 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। आंधी की चपेट में आने से कई पेड़, बिजली के पोल गिर गए। कुछ इमारतों को भी नुकसान हुआ है।
कन्याकुमारी, तूतिकोरिन और रामनाथपुरम समेत राज्य के कोस्टल इलाकों में अगले 24 घंटे तक मछुआरों को समंदर में नहीं जाने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार, कोयंबटूर, पुड्डुचेरी और चेन्नई में भी तेज बारिश हो सकती है।
मौसम विशेषज्ञ ने कहा, ”तूफान अब अरब सागर के साउथ में आगे बढ़ रहा है। 2 दिसंबर तक इसके लक्ष्यद्वीप पहुंचने की उम्मीद है, लेकिन इसके पहले 1 दिसम्बर से यहां भारी बारिश और तेज हवाएं चलनी शुरू हो जाएंगी।