ढ़क्कन बिना बड़ा दिक्कत

बिना ढ़क्कन के नाली
बिना ढ़क्कन के नाली

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत भवदेपुर, गांव भगवानपुर पिपराढ़ी। उहां वार्ड नम्बर एक में लगभग आठ दस साल से नाली बनल हई। लेकिन उपर से ढ़क्कन न रहे के कारण लोग सब के आवे जाये में दिक्कत हो जाई छई।
उहां के ग्रामीण सलमा खातून, जविला खातून, कौशल हजरत, तैयब मंसूर इ सब लोग कहलथिन कि सतार के घर से गुलम पीर के धर तक नाली पर ढ़क्कन न हई। जेई कारण हमरा सब के रात विरात आवे-जाये में दिक्कत होईय। केतना लोग नाली में गिर के घावाहिल भी हो गेलई। हसीना खातून कहलथिन कि हम नाली में गिर गेली जेईसे घूटना, कपार फूट गेल केतना रूपईया इलाज में लागल। हमेशा त बच्चा गिर जाई छई।
मुखिया अनिता देवी के पति शिवजी भण्डारी कहलथिन कि हमर बनायल नाली हई ओई पर ढ़क्कन रखा गेलई। जहां न हई उहां के लेल ढ़क्कन बनके तैयार हई अब पंद्रह-बीस दिन के बाद नाली पर ढ़क्कन रखल जतई।
प्रखण्ड विकास पदाधिकारी राजाराम पासवान कहलथिन कि उहां मुखिया के सहयोग से काम करायल जतई।