डी.एम. नकारिन घास के रोटी

taza diam nakaris dhs ke rotiजिला बांदा। 28 दिसंबर का नरैनी क्षेत्र के कइयौ किसान 23 अउर 56 रुपिया के भेजे चेक के खिलाफ धरना प्रदर्शन करिन। या मामला मा डी.एम. तुरतै कारवाही कइके किसानन का सही जानकारी दइके संतोष कराइन।
नरैनी क्षेत्र के घसराउट, टेढ़ा, नीबी, नौगवां, गहरा,चिमनी पुरवा, कछियन पुरवा, गोपरा, पिपरा, नरसिंहपुर अउर सुलेखान पुरवा मा यहै महीना मा तहसीलदार चेक बांटिन रहै। इं चेकन मा कइयौ चेक 23 से 91 रुपिया तक रहैं। विद्याधाम समिति के सचिव राजाभइया के अगुवाई मा सैकड़न किसान 28 दिसंबर कलेक्ट्रेट मा धरना प्रदर्शन कर डी.एम. का कारवाही करैं का दरखास दिहिन। साथै चेक भी वापस करत रहैं। डी.एम. तुरतै कावाही करैं अउर किसानन का भड़का के उनका परेषान करैं के खिलाफ कारवाही का भरोसा दिहिन।
29 दिसंबर का ए.डी.एम. डी.एस. पाण्डेय खुदै नीबी गांव गे। काहे से नीबी मा किसानन के घास के रोटी खाय का भी मामला सुनैं मा आवा रहै। होंआ नीबी के सुखरानी का असिंचित 0.242 हेक्टेयर खेत का मुआवजा 4500 रुपिया प्रति हेक्टेयर के हिसाब से 1008 रुपिया बनत रहै,पै शासन के आदेश के हिसाब से सबका कम से कम 1500 रुपिया का चेक 14 जून 2015 का दीन जा चुका रहै। सरकार दुबारा मुआवजा के कीमत बढ़ा के 6800 रुपिया एक हेक्टेयर मा दें का कहिस। या हियाब से सुखरानी का वतनी ही खेती का मुआवजा 1523 बनत रहै। 1500 रुपिया पहिले दीन जा चुका है, पै 23 रुपिया देब बाकी रहै। या मारे दुबारा 23 रुपिया का चेक दीन गा है। यहिनतान मा मुन्नी बाई का भी 57 रुपिया का चेक दीन गा। यहिके साथ-साथ जउन भी किसानन का 23 से 91 रुपिया के चेक दीन गे हैं उंई चेक सब यहिनतान के आय। बांदा जिला मा अब तक मा तीन अरब चालिस करोड़ रुपिया बांटा जा चुका है। घास के रोटी आपन जिला मा कोऊ नहीं खात आय। सही जानकारी पता करैं के बजाय जउन कोऊ भी किसानन का भड़कावा है वहिके खिलाफ कारवाही कीन जई। डी.एम. प्रेस वार्ता मा अपील करिन कि जिला मा कोऊ भूखा न रही।