डी.आई.जी. से मिलके करिन न्याय कै गुहार

mahila muddaजिला फैजाबाद, ब्लाक तारून, ग्रामसभा बेलगरा, मजरा कनपुरिया। हिंआ के एक गावं कै मेहरारू कुशुम पत्नी संग्राम निषाद कै आरोप बाय कि गावं कै एक लड़का 9 जनवरी 2016 का घरमा घुसके छेड़छाड़ करिन। पुलिस सप्ताह भर बाद भी सुनवाई नाय करिन।
कुशुम निषाद कै आरोप बाय कि 9 जनवरी का रात्रि दस बजे गावं कै लगभग बत्तिस साल कै अमरेज घरमा घुसि गइन। हमरे साथे छेड़खानी व अश्लील हरकत करै लागिन तब हम गोहार लगायन पति जब दौडि़न तब भाग गये। कइयौ बार हमरे साथे छेड़खानी करिन लकिन लोकलाज के कारण हम कुछ करत नाय रहेन। 10 जनवरी का जब सुबह थाने गयन तौ सुनपाई नाय भै। उल्टे थाना वाले अपने तरफ से अप्लीकेशन लिखिन। एक हफता तक कउनौ सुनवाई न हुवय पै 18 जनवरी का डी.आई.जी. फैजाबाद से मिलके न्याय कै गुहार करेन। तब जाइके सुनवाई भै। वकरे पहिले 151 के तहत चालान कइके छोड़ दिये रहिन। वापस आइके हमैं अमरेज धमकी दियत रहिन अउर कहत रहिन कि तोहरे परिवार अउर तोहरे दुइनौ जवान बिटियन कै जिन्दगी बर्बाद कै दियब। यही डर से हम डी.आई.जी. वीके गर्ग से मिलके न्याय के गुहार करेन। तब जाइके गिरफ्तार करै कै आदेश दिहिन।
तारून थानाध्यक्ष महेश कुमार बताइन कि मुकदमा लिखा गै बाय। धारा 354 लाग बाय।