डिलेवरी के दौरान बढ़त जात मउत

जिला बांदा, ब्लाक बबेरू, कस्बा बबेरू अतर्रा रोड़ अउर कमासिन ब्लाक का गांव तरायां। एक कइत जहां बबेरू कस्बा के मीना कहिस कि तलाक के बाद भी मनसवा मारपीट करत है तौ दूसर कइत तरायां गांव के राजाबेटी कहत है कि दहेज कम मिलैं के बहाना से ससुराल वाले मारपीट करत हैं। रोज-रोज के मारपीट से तंग आ के इं दूनौं आपन बच्चन का पालन पोषण खुदै की कमाई से करत हंै।
मीना बतावत है-“मोर शादी सन् 2000 मा हरदौली गांव के होरीलाल साथै भे रहै। शादी के बाद से ही मनसवा मारपीट अउर गाली गलौज करत हैै। जबै मैं वहिके मारपीट से तंग आ गइंव तौ तीनौ बच्चा लइके मइके चली आइंव। 2010 मा होरीलाल का तलाक दई दीनेव। अब मैं सफाईकर्मी मा नौकरी करत हौं। होरीलाल एक महीना से गली मा छेंकत हैै अउर मारपीट करत है।” होरीलाल कहत है-“मैं मीना का लेवावैं जात हौं कि घर मा आ के रहै, पै वा नहीं आवत आय।” राजाबेटी कहिस-“मोर शादी 2010 मा इटावा जिला के रहैं वाले रमेश साथै भे रहै। शादी के बाद ससुराल वाले दहेज कम मिलैं का लइके लडाई अउर मारपीट करत रहैंै। जान से मारैं के धमकी देत रहैं। या मारे मैं मइके मा रहिके कमात खात हौं।”
सास मुन्नी अउर मनसवा रमेश कहिन-“ राजाबेटी का कउनौ दुख निहाय। हमार दस हजार रूपिया लइके चली आई है। अब न घरै जात आय अउर न हमार रूपिया देत आय। यहिके साथै मारपीट नहीं कीन जात आय। हमरे ऊपर दहेज कम मिलैं से मारपीट का झूठ आरोप लगावत है।”