डकैतन का आतंक नहीं होत कम

कबै सरकार हम गरीबन के समस्या का सुनी

उत्तर प्रदेश सरकार कहत हवै कि जनता का कउनौ बात के हिंसा अउर अत्याचार का सामना न करै का परी,पै बुंदेलखंड के हालत देख नहीं लागत कि कत्तों उत्तर प्रदेश सरकार कुछौ कइ पाई? हिंया तौ आय दिन मड़इन का मारत-पीटत हवैं? पै तबहूं पुलिस प्रशासन कुछ नहीं कई पावत आहीं?
चित्रकूट जिला मा 22 दिसम्बर के रात मा मारकुंडी क्षेत्र के डोड़ामाफी गांव के एक दर्जन मड़इन का डकैतन के मार झेलै का पड़ा हवै मड़इन के हालत गम्भीर रहै तौ कउनौ का मानिकपुर अस्पताल तौ कउनौ का कर्वी अस्पताल मा भर्ती कीन गा हवै मड़ई येत्ता डेरान हवैं कि कुछ बोले का तैयार नहीं आहीं पै अबै तक डकैतन का पुलिस प्रशासन नहीं पकड़ पाइस आय एक के बाद एक घटना घटत हवै अबै एक घाव नहीं भरा दूसर खबर सुनें का मिल गें चित्रकूट के नये गांव मा दुइ मास्टरन का डकैत अपहरण कइ लिहिन हवै अबै तक वा मामला मा भी पुलिस कुछ नहीं कइ पाइस आय देखै मा तौ लागत हवै कि पुलिस का यहिसे कउनौ फर्क नहीं परत चाहे जनता के जान चली जायें? कसत का शासन हवै कि मड़इन के सुनवाई नहीं होत आय?कबै तक मड़ई डकैतन अउर पुलिस के बीच पिसत रही? कत्तौ डकैतन का आतंक खतम होइ की नहीं?