ठण्डी से हाल बेहाल

02-01-14 Kshetriya - Thandएक हफता से शीत लहर, कोहर ओर ठण्डी ने आदमी से लेके जानवरन तक खा झगझोर के धर दओ हे। आदमी जानवर पशु पक्षि घरन से बाहर निकरें को मन नई करत हे। 15 जनवरी से 25 जनवरी के बीच लगभग एक दर्जनन आदमियन की मोत हो गई हे। ठण्ड लागे से मोत को ताजा उदाहरन-22 जनवरी खा जैतपुर ब्लाक के सिरमौल गांव में प्राथमिक विद्यालय की लौटत समय ठण्ड लग गई हती। इलाज के लाने जिला अस्पताल लाये ओते डाक्टर ने मरो बताओ हे। मास्टरन ने ई बात खा लेके अस्पताल के सामने हंगामा कर रोड जाम करो हतोे। एसी सर्दीमें छुट्टी की जघा स्कूल खोले खा कहत हे जभे की कोनऊ बच्चा स्कूल नईं आउत हे।
ठण्ड से आदमियन की मोत रोज को रोज बढ़त नजर आउत हे। ईखे लाने शासन प्रशासन कोनऊ ठोस कदम उठाउत नजर नई आउत हे। भले ही ठण्ड से बचे के लाने कम्बल बांटे गये हे, पे कम्बल बांट के खाना पूर्ति को काम पूरो करो हे। सोचे वाली बात जा हे की कस्बा – हजार की आवादी में दस पन्द्रह कम्बल दये जात हे।
सवाल जा उठत हे की का इत्ती बड़ी आवादी में इत्तई पात्र आदमी रहत हे। ई बात पे सरकार खा ज्यादा ध्यान देत की जरूरत हे। तभई जा समस्या दूर हो सकत हे। आखिर जनता खा सर्दी से बचायें की जिम्मेंदारी कीखी आय?