ट्राईसाईकिल के हई इंतजार

 विकलांग जितेन्द्र कुमार
विकलांग जितेन्द्र कुमार

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत सीरौली द्वितिय, गांव रामनगरा, वार्ड नम्बर तेरह। उहां के जितेन्द्र कुमार, अरूण कुमार, शंभू राय तीनों लोग पुरे शरीर से विकलांग छथिन। इनका सब के ट्राईसाइकल न रहे के कारण दिक्कत होई छई।
जितेन्द्र कुमार के पिता योगी साह, माई रामकुमारी, अरूण कुमार के पिता राम राय, माई शांति देवी, शंभू राय के पिता मिनेही राय, माई सोमरिया देवी इ सब लोग कहलथिन कि हमरा सब के बेटा के उमर इक्कीस-बाईस साल हो गेल। विकलांग पेंसन मिलई छई, लेकिन ट्राईसाईकिल न रहे से घूमे-फिरे, चाहे शौच करे न जा पवई छई। ट्राईसाईकिल रहतीयई त ओई पर बईठा के ज्यादे दूर ले जतियई। पूरे शरीर से विकलांग अउर मांसिक विकलांग हई। अब हम सब वृद्धा अवस्था में हो गेलई ओकरा उठावे बैठावे में सक्षम न होई छी। कई बेर वार्ड सदस्य आवेदन लिख के ले गेलथिन। विकलांग साईकिल मिलेला लेकिन कहां मिल रहल हई? वार्ड सदस्या देवकली देवी कहलथिन कि हम कय बेर ट्राईसाईकिल के लेल प्रखण्ड अउर जिला में आवेदन देली मगर कोई सुधार न भेल।
प्रखण्ड विकास पदाधिकारी कामिनी कुमारी कहलथिन कि 15 अगस्त, 26 जनवरी के अवसर पर ट्राईसाईकिल वितरण कयल जतई। प्रखण्ड में अतई त विकास मित्र के माध्यम से सूचना देल जतई अउर वितरण कयल जतई।