झूठी इज़्ज़त के नाम पर दिल्ली में भी हत्या

20-11-14 Desh Videsh - Honour Killing Bhavna Yadavनई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में ‘आॅनर किलिंग’ (इज़्ज़त के नाम पर हत्या) का मामला सामने आया है। पुलिस को पूरा संदेह है कि दिल्ली विश्वविद्यालय की इक्कीस साल की छात्रा भावना को उसके मां-बाप ने मार दिया है।
भावना यादव ने मां बाप की मजऱ्ी के खिलाफ एक दूसरी जाति के लड़के से 12 नवंबर को शादी की थी। भावना दिल्ली की ही रहने वाली थी। भावना के पति अभिषेक के घरवालों ने विवाह मंजू़र कर लिया था। अभिषेक ने बताया जिस रात वह भावना से शादी कर उसे अपने घर ले गया, उसी रात भावना के मां बाप आए और दोनों की शादी धूमधाम से करने का बहाना कर उसे अपने साथ ले गए।
लेकिन जब भावना घर पहुंची तो उससे साफ कह दिया गया कि उसे उनकी मजऱ्ी से दोबारा उनकी पसंद की शादी करनी होगी। भावना 14 नवंबर को फिर ससुराल लौट गई। लेकिन दोबारा उसके मां बाप उसकी शादी को मान्यता देने और अपनी रीति रिवाज़ से करने की बात कहकर ले गए। दूसरे दिन जब अभिषेक और भावना का संपर्क नहीं हुआ तो अभिषेक ने रिपोर्ट दर्ज कराई।
पुलिस की पूछताछ में पता चला कि भावना मर चुकी है। घरवालों ने कहा कि पूरा परिवार राजस्थान राज्य के अलवर जिले स्थित पैतृक गांव गया था, जहां सांप के काटने से उसकी मौत हो गई। अभिषेक को भी इसकी सूचना नहीं दी गई।

फ़रज़ाना के पति इकबाल
फ़रज़ाना के पति इकबाल

हत्या करने वालों को मौत की सज़ा

लाहौर, पाकिस्तान। यहां की एक अदालत ने ‘आॅनर किलिंग’ या झूठी इज़्ज़त के नाम पर हत्या करने के एक मामले में चार लोगों को मौत की सज़ा सुनाई। इन लोगों ने गर्भवती महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।
फरजा़ना परवीन को इसी साल मई में लाहौर हाई कोर्ट के बाहर ईंट और लाठी से मारा गया। इस महिला ने अपने घरवालों की मजऱ्ी के खिलाफ शादी की थी। 19 नवंबर को इस मामले में फरज़ाना के पिता, भाई और वह व्यक्ति भी दोषी पाया गया जिससे फरज़ाना की शादी पहले तय की गई थी। फरज़ाना के घरवालों ने उसके पति के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। इसी मामले में अपना पक्ष रखने फरज़ाना अदालत पहुंची थी। पाकिस्तान में मानवाधिकार आयोग के आंकड़ों के अनुसार 2013 में वहां आठ सौ उनहत्तर औरतों की हत्या इज़्ज़त के नाम पर हुई है।