झासी जिले के मंडी में भरी है गंदगी, प्रशासन लगा रहा लोगों पर आरोप

जिला झांसी, शहर झांसी मंडी में फैली गंदगी जाके लाने प्रशासन ने खुद मंंडी के आदमीयन को दोषी बताओ।
नगर निगम कर्मचारी मनु श्रीबास्तव को केबो हे के हर मंगलबार को सफाई होत लेकिन मंडी बाले अन्दर का कूड़ा बाहर सड़क पे फेक देत सो बा गंदगी फैली रत। लेकिन इते के आदमियन को केबो तो कछु और हे।
तुलसीदास कुशवाहा ने बताई के इते केऊ साल से नई भई सफाई एक दिन हो जात साल में एकाद बार।
करन ने बताई के चार साल हो गयी सब जगह दरखास लगाई शिकायत करी लेकिन कोऊ नई करबात। कट के मंडी वाले खुद करे बेई फ़ेकत।
देवेन्द्र ने बताई कि सन 90 से गंदगी फेली जब से मंडी लगबो शुरू भओ जब से एकाद बार भई हुए। न कोनऊ सफाई कर्मचारी आत न कोऊ झाड़ू लगाबे तक नई आत।
बालकिशन कुशवाहा ने बताई के हम सब परेशान होत इते दुकान वाले इते बदबू आत बीमारी फ़ैल रई जा से सबको दरख़ास दे चुके स्वास्थ बिभाग को डी एम को भी दे चुके रोड पे निकरबे वाले आदमियन को परेशानी हो रई। महम्मद कलीम ने बताई के सब लोग देत मिल के दरखास लेकिन कोऊ नई सुनत।
तहसील नगर निगम वालेन को केबो हे के मंडी को कचड़ा हे मंडी वाले उठबाबे। और मंडी वाले कत के नगर निगम वाले उठबाबे सो दोई जने के बीच में हम सब दुकान दार को परेशानी हो रई दोनों में से कोऊ उठाबे तैयार नईया। जबकि मंडी समिती को ठेका हे चार हजार रोज कचड़ा उठाबे को। लेकिन कोऊ नई उठात ।कओ सो के देत के हओ करबा देहे करबा देहे। और नई करबात एसी ही गंदगी फैली रत। सो सब परेशानी उठा रए।

रिपोर्टर- लाली

 

28/08/2016 को प्रकाशित