बालू खनन और क्रेशर मशीनें बंद, झांसी में बेरोज़गारी ऐसी बढ़ी जैसे कोई बीमारी

जिला झाँसी, गांव बिजौली| यहां बालू खनन और क्रेशर मशीन बंद होने के कारण बेरोजगारी इस तरह बढ़ गई है जैसे कोई बीमारी फैली हों| स्वतंत्रता के सत्तर साल पूरे हो जाने के बाद भी सरकार बेरोजगारी की समस्या अभी तक दूर नहीं कर पायी है| पार्षद वीरन सिंह का कहना है कि क्रेशर मशीन बंद हो जाने से बहुत सारे लोग बेरोजगार हुये हैं सरकार से निवेदन है कि इस समस्या का जल्दी हल निकाला जाए|
मजदूर धीरेन्द्र कुमार का कहना है कि बालू का काम बंद होने से हम बेरोजगार हो गये हैं|रामा देवी का कहना है जब से मोदी की सरकार बनी है तब से हमारा काम बंद है| हरपाल ने बताया कि किसी तरह बीस-पच्चीस कमाते है तो उससे घर के लिए सामान खरीदते हैं क्यों कि जब से काम बंद हुआ है तब लोग भूखों मर रहे हैं|

बाईलाइन-सोनी

25/08/2017 को प्रकाशित