झांसी जिले में राशनकार्ड सत्यापन का काम शुरू

जिला झांसी, ब्लाक बबीना गरीबन को तीन टेम की रोटी देबे के लाने कम से कम अनाज देबे के लाने राशनकार्ड व्यवस्था की शुरुवात करी गयी। लेकिन आज भी पात्र आदमियन को सही राशन नइ मिल पा रओ। बबीना ब्लाक के केऊ गांवन में गरीब आदमियन के राशनकार्ड में गड़बड़ी नजर आई।जिला झांसी, ब्लाक बबीना गरीबन को तीन टेम की रोटी देबे के लाने कम से कम अनाज देबे के लाने राशनकार्ड व्यवस्था की शुरुवात करी गयी। लेकिन आज भी पात्र आदमियन को सही राशन नइ मिल पा रओ। बबीना ब्लाक के केऊ गांवन में गरीब आदमियन के राशनकार्ड में गड़बड़ी नजर आई। आदमियन को आरोप हे के घर के केऊ सदस्यन के नाम कार्ड में नइ चढाय गए। जई से उने सही मात्रा में राशन नइ मिल रओ। आदमियन ने जाकी शिकायत अपने ग्राम प्रधान से करी। लेकिन बे भी आश्वाशन के अलावा कछू नइ कर पाए। उर्मिला और घनश्याम ने बताई के दो बच्चा हे और पच्चीस किलो मिलत। श्यामलाल ने बताई के आठ सदस्य के नाम चढ़े हम पूरे पंद्रह आदमी हे।सायरा बेगम ने बताई के राशनकार्ड तो हे लेकिन रुपइया वाले ही खा पा रए गरीब आदमी नइ खा पा रए कोटेदार ही घुटाला कर रओ। अगर सोचो सरकार से कछू सुविधा मिले तो बो भी नइ ले पात। कंट्रोल से कोऊ को दो किलो तीन किलो देत। अभय प्रधान ने बताई के हमाओ काम हे पात्र और अपात्र की सूची देबो। विजय चौहान जनगणना में जिन आदमियन के नाम छूट गये ते बई के लाने सरकार ने फार्म भेजे उनको सत्यापन हो रओ। जिलापूर्ति अधिकारी ने बताई के सत्यापन के बाद जे फार्म लखनऊ भेज दए जेहे बाके बाद ही आदमियन को सही राशन मिल पेहे।

रिपोर्टर- सफीना

Published on Jul 6, 2017