झांसी जिले के खैलार गांव में अपर मुख्य सचिव ने चौपाल लगाकर सुनीं समस्या

जिला झांसी, ब्लांक बबीना ग्राम पंचायत खैलार में 3 फरवरी को अपर मुख्य सचिव  संजीव सरन ने चौपाल लगाकर गांव वालों की समस्या सुनी। चौपाल की अध्यक्षता करने से पहले गांव में घूम कर योजनाओं का सत्यापन किया। इस खुली बैठक में मनरेगा का बारें में भी जानकारी दी
रमेश पाल ने बताया कि बीस से पच्चीस साल से बिजली नहीं आ रहीं है,अब आने की बारी है तो पांच सौ मीटर लम्बी लाइन लगी है कई जगह दरखास दे चुके है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। तार कटी पड़ी होने के कारण करेंट का खतरा है। रास्ते में जगह-जगह पर तारे कटी मिलती हैं। यहां पानी की बहुत समस्या है, इसलिए यहां पानी की टंकी भेजवाई जाए जिससे महिलाओं को पानी के लिये दूर ना जाना पड़े, क्योंकि पानी बहुत दूर से लाना पड़ता है और पानी लाने में बहुत परेशानी होती हैं।
राजकुमारी ने अपनी कालोनी की समस्या और बिजली के बिल की समस्या के बारें में बताया  कि बिजली का पैंतीस से चालीस हजार तक बिजली बिल आता हैं। मेरे न तो पति है न लड़का है कि जिससे बिजली बिल भरा जा सके। इसलिये मेरी बिजली कटवा दी गई है
किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष संतोषकुमार ने बताया कि ग्यारह हजार की लाइन पुरानीं व कटी-फटी हो गई है, यहां के खम्भे पुराने हो गये है और खेतों पर सूखा पड़ा हैं यहां बहुत बड़ी समस्या हैं।
अपर मुख्य सचिव संजीव सरन का कहना है कि  शासन का यह आदेश है कि अधिकारी अलग-अलग गांव में जाकर पता लगाये कि आखिर में समस्या क्या है। इस कार्य के लिये कल सचिव आये थे,उन्होंने ही ये आदेश दिया है कि गांव की समस्या को देख कर हमें सूचित किया जायें और ऐसा हुआ भी है  कुछ लोगों को बिल का पैसा भरना मुश्किल हो रहा हैं क्योंकि बिल ज्यादा आ रहा है तो कहीं पर पानी की समस्या है तो कहीं नल खराब पड़े हैं।     

रिपोर्टर- सफीना                 

 Uploaded on Feb 6, 2018