जीते तो करेंगे विकास – महोबा से बसपा उम्मीदवार

17-04-14 Chunaav - Mahoba BSP Goswamiजिला महोबा, उत्तर प्रदेश। लोकसभा चुनाव में जिले से उम्मीदवार बसपा उम्मीदवार पंडित राकेश गोस्वामी से हुई बातचीत।
मैं 1974 में हुए जयप्रकाश आंदोलन के समय से राजनीति में हूं। सबसे पहले मैं भाजपा से चुनाव लड़ा फिर 2002 में भाजपा छोड़कर बसपा में आ गया।
भाजपा छोड़ने का कारण जातिवाद और धर्मवाद था। मैं चरखारी का रहने वाला हूं। इस क्षेत्र से मुझे खास लगाव है। पहले 2007 में मैं यहां से विधायक भी रह चुका हूं। महोबा में पीने के पानी और बेरोजगारी दो बड़ी समस्याएं हैं। अगर इस बार जनता ने चुना तो इन्हें दूर करने की कोशिश करूंगा। कबरई ब्लाक में स्थित अर्जुन सहायक बांध सालों से अधूरा पड़ा है उसे पूरा करूंगा।
महोबा का ऐतिहासिक महत्व देखते हुए इसका विकास पर्यटन स्थल की तरह करना भी मेरी प्राथमिकता में है। उनका मानना है कि नरेंद्र मोदी की लहर मीडिया ने बनाई है। शहरों से दूर लोग नरेंद्र मोदी की बात भी नहीं करते। फिर बात अगर बुंदेलखंड की है तो वहां के लिए भाजपा ने कभी कुछ नहीं किया।